खालिस्तानी के सपोर्ट में आए क्रिकेटर हरभजन सिंह, खालिस्तानी आतंकी भिंडरावाले को शहीद कहा

भारतीय ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) इन दिनों क्रिकेट और अपने खेल से काफी दूर चल रहे है. लेकिन क्रिकेट मैच पर अपनी प्रतिक्रिया देने के चलते वह हमेशा ही सुर्ख़ियों में बने रहते है. इस बार वो अपने खेल या उस पर कमेंट के कारण नहीं, बल्कि अपने एक पोस्‍ट को लेकर चर्चा में हैं. या यूं कहे विवादों में है. भज्जी ने एक पोस्ट डाली थी जो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रही है. हरभजन सिंह ने अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में मारे गए खालिस्तानी आतंकी जरनैल सिंह भिंडरावाले को श्रद्धांजलि देते हुए शहीद करार दिया है.

अब हरभजन अपने इस पोस्‍ट को लेकर ट्रेंड भी होने लगे हैं. उनके इतना करने से ही सोशल मीडिया पर बवाल मच गया है. हरभजन सिंह ने ऑपरेशन ब्लू स्टार की 37वीं बरसी पर रविवार को अपने इंस्‍टाग्राम अकाउंट पर एक स्‍टोरी शेयर की थी. इसमें खालिस्तानी जरनैल सिंह भिंडरावाले (Jarnail Singh Bhindranwale) की तस्वीर भी मौजूद थी.

इसमें लिखा, सम्मान के साथ जीना और धर्म के लिए ही मरना. 1 जून से 6 जून 1984 को सचखंड श्री हरिमंदर साहिब पर शहीद होने वाले सिंह-सिंहनियों की शहादत को मेरा प्रणाम. इसके बाद अपनी इस पोस्ट पर ट्रोल होने के बाद भी उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया है. आपको बता दें कि वर्ष 1984 में भारतीय सेना ने स्‍वर्ण मंदिर में ऑपरेशन ब्‍लू स्‍टार को सफलता पूर्वक अंजाम दिया था.

हरभजन की इस पोस्ट पर सोशल मीडिया यूजर्स ने लिखा है कि हरभजन सिंह को भारत में रहने का कोई अधिकार नहीं है. इसके साथ ही कई यूज़र्स ने भज्जी के खिलाफ FIR दर्ज करने की भी मांग कर दी है. वहीं कुछ यूज़र ने लिखा कि इस तरह के बयान को लेकर BCCI को तत्काल हरभजन पर किसी तरह की कार्रवाई करनी चाहिए. वहीं कुछ लोगों का कहना है कि उन्हें जितने भी अवार्ड दिए गए है उनसे वापस लेने चाहिए.

ऑपरेशन ब्लू स्टार?
1984 में पंजाब को भारत से अलग कर ‘खालिस्तान’ राष्ट्र बनाने की मांग जोर पकड़ रही थी. इसलिए इस ऑपरेशन को अंजाम दिया गया था. इसे ही ऑपरेशन ब्लू स्टार कहा जाता है. इस आंदोलन की अगुआई जरनैल सिंह भिंडरावाला (अलगाववादी नेता) कर रहा था. 6 जून, 1984 को देर रात उसे मार गिराया था. उसकी लाश मिलने पर ऑपरेशन ब्लू स्टार खत्म हो गया था. इसमें 83 सैनिक मारे गए थे, जिसमें 3 सेना के अफसर थे. वहीं 492 लोग मारे गए थे और 248 लोग घायल हुए थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.