टांटिया यूनिवर्सिटी में शुरू हुए एग्रीकल्चर एजुकेशन के नए कोर्सेज

टांटिया यूनिवर्सिटी में शुरू हुए एग्रीकल्चर एजुकेशन के नए कोर्सेज
बेहतरीन कॅरियर के इच्छुक विद्यार्थी एमएससी, एबीएम और वोकेशनल कोर्सेज में ले सकते हें एडमिशन
श्रीगंगानगर। हनुमानगढ़ रोड पर टांटिया यूनिवर्सिटी परिसर में स्थित फैकल्टी ऑफ एग्रीकल्चर में कई कोर्स एवं पांच विषय में एमएससी शुरू हो गई है। डीन डॉ. उम्मेदसिंह शेखावत ने बताया कि सरकार की नई शिक्षा नीति के अंतर्गत पहल करते हुए वोकेशनल एग्रीकल्चर प्रोडक्शन एंड टेक्नोलॉजी का तीन साल का कोर्स शुरू किया गया है। इसमें विशेष बात यह है कि किसी भी स्ट्रीम के पात्र विद्यार्थी प्रवेश ले सकेंगे, इसमें कोई एक साल ही पढ़ाई करता है तो प्रमाण पत्र दिया जाएगा, दो साल पूरे करने पर डिप्लोमा तथा तीन साल पूर्ण करने पर डिग्री प्रदान की जाएगी।
यूनिवर्सिटी के डिप्टी रजिस्ट्रार राकेश वर्मा के अनुसार फैकल्टी ऑफ एग्रीकल्चर में एग्री बिजनेस मैनेजमेंट (एबीएम) का दो साल का कोर्स भी शुरू किया गया है, इमसें न्यूनतम योग्यता बीएससी-कृषि में 55 प्रतिशत अंक है। इसी तरह आनुवांशिकी एवं पादप प्रजनन (जेनेटिक्स एंड प्लांट ब्रिडिंग), शस्य विज्ञान (एग्रोनोमी), कृषि अर्थशास्त्र (एग्रीकल्चर इकोनोमिक्स), कृषि विस्तार एवं संचार (एग्रीकल्चर एक्सटेंशन एंड कम्यूनिकेशन) तथा उद्यान विज्ञान (होर्टिकल्चर) में एमएससी की पढ़ाई शुरू की गई है। उल्लेखनीय है कि टांटिया एग्रीकल्चर कॉलेज में कृषि में बीएससी ऑनर्स वर्ष 2015-16 से जारी है और इस कॉलेज की पूरे क्षेत्र में विशिष्ट पहचान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.