मेदांता श्रीगंगानगर में डॉ राकेश आसेरी ने किये दो अत्याधुनिक ऑपरेशन

मेदांता श्रीगंगानगर में डॉ राकेश आसेरी ने किये दो अत्याधुनिक ऑपरेशन

अक्टूबर 2021 श्रीगंगानगर

स्थानीय नाथवाला स्थित मेदांता एस एन सुपरस्पेशल्टी हॉस्पिटल श्री गंगानगर में मेट्रो सिटी की तर्ज पर अत्याधुनिक सुविधाएं उपलब्ध हो पाएगी इन सुविधाओं में क्रमशः एफ एफ आर व आई वी यू एस है। मेदांता हॉस्पिटल के डॉक्टर राकेश आसेरी द्वारा हाल ही में इन दोनों तकनीकों द्वारा अलग-अलग मरीजों का  उपचार कर  ठीक किया गया प्रथम तकनीक एफएफआर का उपयोग यह जांचने के लिए किया जाता है कि व्यक्ति को स्टंट की जरूरत है या नहीं है कई बार एंजियोग्राफी में ब्लॉकेज 60 -70% आती है जिसके अंतर्गत मरीज ग्रे जोन में रहता है परंतु लक्षण अधिक रहते हैं जैसे चलने पर छाती में दर्द होना सांस फूलना ऐसे में एफ एफ आर के माध्यम से स्टडी कर ली जाती है कि उसे स्टंट डालने की जरूरत है या नही। हाल ही में डॉ आसेरी द्वारा इस तकनीक से जांच कर मरीज के स्टंट डाला गया इस मरीज की भी एंजियोग्राफी के अंतर्गत ब्लॉकेज कम थी पर लक्षण निरंतर बने हुए थे अब एंजियोप्लास्टी के बाद यह मरीज पूर्ण स्वस्थ है वह अपनी सुचारू जिंदगी जी रहा है

दूसरी तकनीक आई वी यू एस तकनीक इंट्रावैस्कुलर अल्ट्रासाउंड है इस तकनीक में कैथेटर के माध्यम से सूक्ष्म अल्ट्रासाउंड मशीन को हृदय की धमनियों के अंदर भेजा जाता है और यह धमनियों के अंदर की ब्लॉकेज , कैल्शियम व धक्कों की स्थिति को जांचती है और उस आधार  पर मरीज का आगामी उपचार किया जा सकता है साथ ही साथ इस तकनीकी द्वारा यह भी देखा जा सकता है कि स्टंट अंदर जाकर पूरी तरह खुला है या नहीं अगर स्टंट पूरी तरह से नही खुलता तो वह कुछ ही समय बाद बंद हो जाता है। यह दोनो आपरेशन आर जी अच अस स्कीम में निःशुल्क किये गये।

यह श्रीगंगानगर के लिए बड़े गौरव की बात है कि अब  इस तरह के सुपर स्पेशलिस्ट डॉक्टर मेदांता श्री गंगानगर में उपलब्ध है हाल ही में डॉ राकेश आसेरी को विश्वविखात एशिया पैसिफिक सोसाइटी ऑफ इंटरवेंशनल कार्डियोलॉजी से फ़ेलोशिप मिली है। ये पूरे संभाग के लिए गौरव की बात है।कार्डियोलॉजिस्ट डॉ राकेश आसेरी यहाँ से पूर्व डीएमसी लुधियाना में 3 वर्ष EHCC जयपुर में 1 वर्ष अपनी सेवाएं दे चुके हैं

ज्ञात रहे इससे पूर्व इस तरीके की सुविधाएं केवल मेट्रो सिटीज में ही उपलब्ध थी परंतु अब यह सुविधाएं श्रीगंगानगर में मेदांता हॉस्पिटल में भी उपलब्ध है जिसके लिए अब मरीजों को मेट्रो सिटी या किसी अन्य जगह पलायन करने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। और यहां इलाज का खर्च भी दिल्ली और जयपुर की तुलना में लगभग 3 गुना कम आता है

मेदांता हॉस्पिटल श्रीगंगानगर सदैव की तरह अपने कुशल नेतृत्व एवं तकनीकों के लिए जाना जाता है मेदांता कार्डियोलाजी रोग विभाग में अब सभी प्रकार के समान्य एवं कोम्पलेक्स रोगों का इलाज हो रहा हैं

ज्ञात रहे मेदांता श्रीगंगानगर ही नहीं निकटवर्ती हरियाणा व पंजाब के लिए मरीजों के लिए भी वरदान साबित हो रहा है मेदांता में मालवा तक के मरीज ठीक होकर जा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *