न्यायाधीशों ने विधिक चेतना के अभियान से जुडऩे का किया आह्वान टांटिया

 

न्यायाधीशों ने विधिक चेतना के अभियान से जुडऩे का किया आह्वान

12 नवम्बर 2021

टांटिया यूनिवर्सिटी में विधिक चेतना शिविर व प्रदर्शनी
श्रीगंगानगर। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण एवं टांटिया यूनिवर्सिटी के विधि संकाय ने आजादी के अमृत महोत्सव में पैन इंडिया अवेयरनेस एंड आउटरीच केम्पेन के अंतर्गत गुरुवार को विधिक चेतना शिविर एवं प्रदर्शनी रखी। इसमें एसीडी कोर्ट के न्यायाधीश राजकुमार, पोस्को कोर्ट नम्बर 1 के विशिष्ट न्यायाधीश अमित कड़वासरा, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव अपर जिला एवं सैशन न्यायाधीश पवन कुमार वर्मा ने विधिक चेतना संबंधी विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने जरूरतमंद लोगों तक न्याय पहुंचाने के प्रयासों का जिक्र करते हुए कहा कि सभी को विधिक चेतना के अभियान से जुडऩा चाहिए। नैशनल लीगल सर्विस अथॉरिटी (नालसा) के ध्येय मंत्र न्याय सबके लिए का जिक्र करते हुए बताया कि उसने हिन्दी सहित दस भाषाओं में एप तैयार किया है, सभी को इसके माध्यम से भी लाभान्वित होना चाहिए।


टांटिया यूनिवर्सिटी में आगमन पर कार्यकारी निदेशक के. एस. सुखदेव, निदेशक डॉ. अश्वनी गोगिया, अध्यक्ष प्रो. (डॉ.) एम. एम. सक्सेना, रजिस्ट्रार डॉ. विनोद कुमार शर्मा ने न्यायाधीशों का स्वागत किया तथा यूनिवर्सिटी की गतिविधियों के बारे में बताया। शिविर में विधि संकाय के डीन डॉ. सौरभ गर्ग ने विधि संकाय संबंधी जानकारी देते हुए बताया कि लीगल एड क्लिनिक का सफलता से संचालन किया जा रहा है। प्रारम्भ में अतिथियों ने मां सरस्वती की प्रतिमा के समक्ष दीप जलाया, स्वागत क्लिनिक के प्रभारी राजेंद्र सिंह ने किया। नालसा थीम सॉन्ग का प्रदर्शन भी किया गया।
संकाय सदस्य संदीप कौर एवं महक ने शिविर का संयोजन किया। राष्ट्रगान से समापन से पूर्व संकाय सदस्य सुदेश कुमार, रमनदीप सिंह, अतुल कुमार एवं आईईसी को-ऑर्डिनेटर राजकुमार जैन ने अतिथियों को स्मृति चिन्ह भेंट किए। विधि संकाय की तरफ से न्याय प्रणाली के इतिहास तथा जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के आयामों से संबंधित प्रदर्शनी भी रखी गई। अतिथियों एवं विद्यार्थियों ने इसका अवलोकन किया और विधि संकाय की सराहना की।

Leave a Reply

Your email address will not be published.