जन सेवा हॉस्पिटल में बड़ी गांठ एक साथ निकाल महिला का जीवन बचाया

जन सेवा हॉस्पिटल में बड़ी गांठ एक साथ निकाल महिला का जीवन बचाया
श्रीगंगानगर। डॉ. एस. एस. टांटिया मेडिकल कॉलेज,हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर (जन सेवा हॉस्पिटल)में 39 वर्षीय एक महिला की बच्चादानी के पास काफी बड़ी हो चुकी गांठ को एक साथ बाहर निकाल कर उसका जीवन बचाया गया है। मुख्य प्रशासनिक अधिकारी बलजीत सिंह कुलडिय़ा ने बताया कि समेजा कोठी की सतवीर कौर की जान जोखिम में थी, गांठ बड़ी होकर 28 सेमी. की हो गई थी, इसके फटने तक की आशंका थी। गांठ आकार में बड़ी होने के कारण बाएं साइड की गुर्दे की नलकी पर दवाब डाल रही थी, इससे गुर्दा सूज गया था।
गुर्दे की नलकी को नुकसान पहुंचाए बिना वरिष्ठ सर्जन डॉ. राघव टांटिया, डॉ. निशान्त खुराना एवं डॉ. विकास गर्ग ने संयुक्त प्रयास से गांठ को बाहर निकाल दिया। एनेस्थीसिया के डॉ. गुरतेज सिंह धारीवाल के अलावा भागीरथ, जे. पी. चौधरी आदि का भी इसमें सहयोग रहा।
मरीज के पति सुखदेव सिंह ने जन सेवा हॉस्पिटल की अत्याधुनिक विश्वस्तरीय सेवाओं के अलावा समर्पित भाव से कार्य करने वाले अनुभवी-विशेषज्ञ चिकित्सकों तथा नर्सिंग ऑफिसर्स का आभार जताया है। उनके अनुसार रोग के कारण काफी परेशानी थी, उपचार के लिए इधर-उधर दिखाया लेकिन परेशानी से निजात अब जाकर मिली है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.