जन सेवा हॉस्पिटल में पहली बार जांघ के मांस से बनाया जबड़ा

जन सेवा हॉस्पिटल में पहली बार जांघ के मांस से बनाया जबड़ा
मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में कैंसर की गांठ व जबड़े की हड्डी को नि:शुल्क निकाला
श्रीगंगानगर। हनुमानगढ़ रोड पर टांटिया यूनिवर्सिटी परिसर में स्थित डॉ. एस. एस. टांटिया मेडिकल कॉलेज, हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर (जन सेवा हॉस्पिटल) के विशेषज्ञ चिकित्सकों की अनुभवी टीम ने जटिल मामलों में एक और सफलता प्राप्त की है। पहली बार जांघ के मांस से जबड़ा बनाया गया है। करीब 57 वर्षीय मरीज के आठ घंटे चले ऑप्रेशन में कैंसर की गांठ एवं जबड़े की हड्डी को निकाला गया। हॉस्पिटल के मुख्य प्रशासनिक अधिकारी बलजीत सिंह कुलडिय़ा ने बताया कि कान, नाक व गला रोग विशेषज्ञ डॉ. महेश के. मोहता, प्लास्टिक एंड रिकंस्ट्रक्टिव सर्जन डॉ. मनोज गर्ग एवं मेक्सीलोफेशियल एंड हेड-नेक ओंको सर्जन डॉ. पी. सी. स्वामी ने ऑप्रेशन किया, एनेस्थीसिया में डॉ. नवीन जैन का सहयोग रहा। मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में उपचार नि:शुल्क किया गया।
मरीज के मुंह के अंदर गांठ थी, यह लगभग 8 सेमी. की थी और बाहर गाल की (5 सेमी.) चमड़ी तक आई हुई थी। जांच के बाद कैंसर पाया गया और ऑप्रेशन करने का निर्णय किया गया। इसमें विशेष बात यह रही कि सीने पर पर्याप्त मांस नहीं होने के कारण जांघ से मांस (फ्री फ्लेप) लिया गया। इस क्षेत्र में यह अपनी तरह का पहला ऑप्रेशन है, जिसमें फ्री फ्लेप किया गया है। मरीज अब स्वस्थ है। जन सेवा हॉस्पिटल में विशेषज्ञ चिकित्सकों का परामर्श शुल्क सिर्फ 10 रुपए रखा हुआ है, वार्ड में भर्ती का रोज का चार्ज केवल 20 रुपए निर्धारित है। मरीजों को गुणवत्ता का आहार भी नि:शुल्क उपलब्ध करवाया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.