‘आराम छोडकर इस रविवार, करेंगे हम पोलियो पर वार’

आराम छोडकर इस रविवार, करेंगे हम पोलियो पर वार
आज बूथ पर लेकर आएं नौनिहालों को, ताकि गटक सकें ‘दो बंूद जिंदगी की’
श्रीगंगानगर। जिले में आज से तीन दिवसीय राष्ट्रीय पल्स पोलियो अभियान शुरू हो जाएगा। पहले दिन बूथ पर पांच वर्ष तक के बच्चों को पोलियो की दवा पिलाई जाएगी, वहीं आगामी दो दिन सोमवार व मंगलवार को टीमें घर-घर जाकर वंचित बच्चों को दवा पिलाएगी। रविवार को जिलास्तर पर नौनिहालों को दवा पिलाकर अभियान की शुरुआत की जाएगी। आमजन मेें जागरूकता बढ़ाने के लिए शनिवार को जिलास्तर सहित सभी ब्लॉकों व अन्य स्वास्थ्य केंद्रों पर माइकिंग की गई व रैली निकाली गई। अभियान को लेकर जिला कलेक्टर रूकमणि रियार सिहाग ने आमजन से अधिकाधिक भागीदारी करने का आह्वान किया।
सीएमएचओ डॉ. गिरधारी मेहरड़ा ने बताया कि जिलास्तरीय रैली को स्वास्थ्य भवन से नगर परिषद आयुक्त सचिन यादव, एसीएमएचओ डॉ. मुकेश मेहता एवं पीएमओ डॉ. बलदेव सिंह चौहान ने हरी झंडी दिखाकर रवानगी दी। वहीं डॉ. संजय राठी, प्रेम चुघ, राकेश कुमार, सोहनलाल व गगनदीप आदि मौजूद रहे। इस दौरान ‘आराम छोडक़र इस रविवार, करेंगे हम पोलियो पर वार’ के नारों के साथ युवाओं व आमजन ने जोश दिखाया और अभियान के प्रति प्रतिबद्धता जाहिर की। इस मौके पर आयुक्त सचिन यादव ने युवाओं से आह्वान किया कि वे इस राष्ट्रीय अभियान में अपनी अहम भूमिका अदा करते हुए शतप्रतिशत बच्चों को पोलियो दवा पिलाएं। उन्होंने कहा कि देश पोलियो मुक्त हो चुका है लेकिन यह अभिशाप फिर से देश मेंं न फैले इसके लिए 27 फरवरी से 01 मार्च तक बच्चों को पोलियो दवा पिलाई जाएगी। रैली के साथ-साथ नन्हे बच्चों ने स्केटिंग के जरिए भी जागरूकता का संदेश दिया। सीओआईईसी विनोद बिश्रोई ने बताया कि इस बार जिले में पांच वर्ष तक के बच्चों की संख्या दो लाख 89 हजार आठ सौ 23 हैं, जिन्हें शतप्रतिशत दवा पिलाने का लक्ष्य रखा गया है। विभाग ने गांव, ढाणियों, कस्बों सहित झुग्गी-झोंपडिय़ों, ईंट भटï्टे और अन्य हाई रिस्क क्षेत्र भी चिन्हित किए गए हैं ताकि सभी बच्चों को दवा पिलाई जा सके। जिले में 1262 बूथ, 23 मोबाइल और 50 ट्रांजिट बूथ स्थापित किए गए हैं। वहीं डोर टू डोर दवा पिलाने के लिए 2294 टीमें कार्य करेंगी। तीनों दिन 235 सुपरवाइजर पोलियो अभियान की मोनिटरिंग करेंगे।


जिला कलेक्टर ने किया आह्वान, बूथ पर लाएं नौनिहाल
जिला कलेक्टर रूकमणि रियार सिहाग ने जिलेवासियों से आह्वान किया कि वे बच्चों का अतिआवश्यक रूप से बूथ पर लेकर आएं ताकि कोई भी बच्चा पोलियो दवा से वंचित न रहे। उन्होंने कहा कि पहले दिन जितने अधिक बच्चे पोलियो दवा लेंगे, उससे आगामी दो दिनों में शेष सभी वंचित बच्चों को दवा पिलाने में आसानी होगी। वहीं जिला कलेक्टर ने उन सभी स्कूल संचालकों को पाबंद किया है, जहां पोलियो बूथ निर्धारित किए गए हैं कि वे रविवार को स्कूल खुले रखें। यदि किसी स्कूल प्रबंधन द्वारा लापरवाही बरती गई तो कार्रवाई की जाएगी। इसी तरह आगामी दिनों में वंचित बच्चों को पोलियो दवा पिलाने से स्कूल प्रबंधन इनकार नहीं करें, अन्यथा इसे शासकीय आदेशों की अवहेलना मानते हुए कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने आमजन से अपील की है कि वे  इस राष्ट्रीय अभियान में योगदान दें एवं अन्य जन को जागरूक करने के साथ ही उन्हें बच्चों को बूथ पर दवा पिलाने के लिए पे्ररित करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.