मेदांता में पार्शल नेफरेक्टोमी के जरिए बिना किडनी निकाले कैंसर की गांठ का ऑपरेशन

 

मेदांता में पार्शल नेफरेक्टोमी के जरिए बिना किडनी निकाले कैंसर की गांठ का ऑपरेशन

स्थानीय एसएन मेदांता सुपरस्पेशलिटी हॉस्पिटल में 50 वर्षीय महिला की दायी किडनी में से 3 .5 X 4 .2 सेंटीमीटर कैंसर की गांठ बिना किडनी को निकले पार्शल नेफरेक्टोमी पद्धति द्वारा अलग किया गया यह जटिल ऑपरेशन यूरोलॉजिस्ट डॉ रोहिताश चांदोरा के नेतृत्व में किया गया डॉक्टर चांदोरा ने बताया कि 50 वर्षीय महिला कमर में दर्द की समस्या को लेकर उनके पास आई थी महिला के किडनी कमजोर थी वह बीपी की भी शिकायत थी प्रारंभिक जांच के बाद पाया गया कि महिला की किडनी में कैंसर की गांठ है और तुरंत ऑपरेशन करने का निर्णय लिया गया डॉक्टर चांदोरा और उनकी टीम द्वारा पार्शल नेफरेक्टोमी द्वारा किडनी में से कैंसर की गांठ को अलग कर दिया गया और किडनी को निकालना नहीं पड़ा अब मरीज पूर्णता ठीक है इस तरह के जटिल ऑपरेशन पहले श्रीगंगानगर के आसपास के क्षेत्रों में उपलब्ध नहीं थे परंतु अब मेदांता की सुपर स्पेशलिस्ट टीम के द्वारा अब यह संभव हो पाया है और सबसे बड़ी बात यह है कि यह ऑपरेशन चिरंजीवी योजना के अंतर्गत एकदम निशुल्क किया गया मरीज को इस ऑपरेशन के लिए कुछ भी राशि नहीं देनी पड़ी

ज्ञात रहे इससे पूर्व इस तरीके की सुविधाएं केवल मेट्रो सिटीज में ही उपलब्ध थी परंतु अब यह सुविधाएं श्रीगंगानगर में मेदांता हॉस्पिटल में भी उपलब्ध है जिसके लिए अब मरीजों को मेट्रो सिटी या किसी अन्य जगह पलायन करने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। और यहां इलाज का खर्च भी दिल्ली और जयपुर की तुलना में लगभग 3 गुना कम आता है
मेदांता हॉस्पिटल श्रीगंगानगर सदैव की तरह अपने कुशल नेतृत्व एवं तकनीकों के लिए जाना जाता है मेदांता यूरोलॉजी विभाग में अब सभी प्रकार के समान्य एवं कोम्पलेक्स रोगों का इलाज हो रहा हैं

ज्ञात रहे मेदांता श्रीगंगानगर ही नहीं निकटवर्ती हरियाणा व पंजाब के लिए मरीजों के लिए भी वरदान साबित हो रहा है मेदांता में मालवा तक के मरीज ठीक होकर जा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.