टांटिया यूनिवर्सिटी में घरेलू हिंसा के विरूद्ध जागरुकता संबंधी कार्यशाला

टांटिया यूनिवर्सिटी में घरेलू हिंसा के विरूद्ध जागरुकता संबंधी कार्यशाला
वक्ताओं ने कहा, अधिकार और कानून की जानकारी आवश्यक
श्रीगंगानगर। डॉ. एस. एस. टांटिया मेडिकल कॉलेज, हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर (जन सेवा हॉस्पिटल) के मनोचिकित्सा एवं मनोरोग विभाग के तत्वावधान में घरेलू हिंसा के विरूद्ध जागरुकता संबंधी कार्यशाला में वक्ताओं ने कहा कि अधिकार और कानून की जानकारी आवश्यक है। विषय विशेषज्ञों ने घरेलू एवं कामकाजी महिलाओं के अधिकारों, चिकित्सकीय एवं मनोस्थिति आदि के बारे में प्रोजेक्टर के माध्यम से भी बताया। प्रसूति एवं स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. कृतिका पौद्दार, लॉ कॉलेज की एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. संदीप कौर एवं कार्यशाला की समन्वयक डॉ. अर्शिया सेतिया मुख्य वक्ता थे।


प्रारम्भ में जन सेवा हॉस्पिटल के मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉ. एच. एस. बिन्द्रा, विधि संकाय के डीन डॉ. सौरभ गर्ग, एसोसिएट प्रोफेसर राजेंद्रसिंह, मनोविज्ञान विभागाध्यक्ष डॉ. मनीष अरोड़ा एवं वक्ताओं ने मां सरस्वती के चित्र के समक्ष दीप जलाया। एसोसिएट प्रोफेसर महक मंगवाना, आईईसी को-ऑर्डिनेटर राजकुमार जैन ने संचालन किया। कार्यशाला में शिक्षिकाओं, आशा वर्कर आदि ने भाग लिया। प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र के साथ ही महिलाओं से संबंधित उपयोगी नम्बर की सूची भी प्रदान की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.