मानवीय मूल्यों का रखा जाए ध्यान, विधिक सहायता का होना चाहिए ज्ञान : एडीजे तेनगुरिया

मानवीय मूल्यों का रखा जाए ध्यान, विधिक सहायता का होना चाहिए ज्ञान : एडीजे तेनगुरिया

टांटिया यूनिवर्सिटी में विधिक सहायता शिविर

श्रीगंगानगर। टांटिया यूनिवसिटी के विधि संकाय एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के संयुक्त तत्वावधान में गुरुवार को रखे गए विधिक सहायता शिविर में मुख्य अतिथि प्राधिकरण के सचिव एवं एडिशनल डिस्ट्रिक्ट एंड सेशन जज (एडीजे) गजेंद्रसिंह तेनगुरिया ने कहा कि सभी को मानवीय मूल्यों का पूरा ध्यान रखना चाहिए साथ ही विधिक सहायता का ज्ञाना होना चाहिए। लीगल एड को जन-जन को लाभ पहुंचाने वाले बताते हुए देश तथा दुनिया में इसकी शुरूआत की भी उन्होंने चर्चा की। महात्मा बुद्ध, अरस्तू, डॉ. बी. आर. अम्बेडकर का स्मरण करते हुए कहा कि मानवता की सेवा सर्वाेपरि है। विधिक सेवा प्राधिकरण के कार्यों को महत्वपूर्ण बताते हुए एडीजे ने उपस्थित ग्रामीण जन प्रतिनिधियों एवं विद्यार्थियों से आग्रह किया कि वे इस बारे में जन जागृति बढ़ाएं।

यूनिवर्सिटी के ऑडिटोरियम में रखे गए शिविर के विशिष्ट वक्ता बार कौंसिल ऑफ राजस्थान के पूर्व अध्यक्ष एडवोकेट नवरंग चौधरी ने विधिक सहायता, न्याय मित्र आदि का जिक्र करते हुए इस बात पर जोर दिया कि परेशानी की जड़ आपसी विवाद एवं झगड़े से दूर ही रहा जाए। बार एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष एडवोकेट मलकीत सिंह नंदा ने देश में लीगल एड की शुरूआत को याद करते हुए कहा कि इसका लाभ अधिकाधिक को दिलवाना सुनिश्चित किया जाना चाहिए। बार एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष एडवोकेट चरणदास कम्बोज ने क्रिमिनल लॉ, मृत्युकालीन घोषणा सहित कई कानूनी प्रावधानों के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने धारा164 एवं 161 के आधार पर दिए गए बयानों के बारे में भी जानकारी दी। विधि छात्र धीरज कुमार ने सम्पति एवं बुजुर्गों के अधिकारों के बारे में बताया।

टांटिया यूनिवर्सिटी के विधि संकाय की ओर से संचालित हो रहे नि:शुल्क विधिक सेवा केंद्र के प्रभारी एडवोकेट राजेंद्रसिंह ने इसकी गतिविधियों की जानकारी दी साथ ही बताया कि आर्थिक रूप से कोई भी कमजोर व्यक्ति न्याय से वंचित नहीं रहना चाहिए। डीन डॉ. सौरभ गर्ग ने सभी का आभार जताते हुए बताया कि विधि संकाय की तरफ से समय-समय पर ऐसे शिविर और ज्वलंत विषयों पर व्याख्यान रखे जाते हैं। डॉ. संदीप कौर ने संयोजन किया। बनवाली के सरपंच राजेंद्रसिंह, सिहागांवाली के सरपंच हरनीत सिंह, महियांवाली के सरपंच प्रतिनिधि हंसराज भादू, ख्यालीवाला के सरपंच मोहनलाल रिणवा, मोमनराम सेवा समिति के रामकुमार यादव सहित काफी जने शिविर में मौजूद थे। संकाय सदस्य महक मंगवाना, सुदेश कुमार, किरणदीप कौर, धर्मवीर सिंह, आईईसी को-ऑर्डिनेटर राजकुमार जैन ने अतिथियों को स्मृति चिन्ह भेंट किए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.