मंत्री जूली ने जन जागरुकता अभियान के लिए कार्ययोजना बनाने के दिए निर्देश प्रांत की प्रमुख संस्थाओं की बैठक में टांटिया नशा मुक्ति केंद्र की रही सहभागिता

मंत्री जूली ने जन जागरुकता अभियान के लिए कार्ययोजना बनाने के दिए निर्देश

प्रांत की प्रमुख संस्थाओं की बैठक में टांटिया नशा मुक्ति केंद्र की रही सहभागिता

श्रीगंगानगर। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री टीकाराम जूली ने बुधवार को जयपुर में हुई बैठक में ‘स्वर्गीय गुरुशरण छाबड़ा जन जागरुकता अभियानÓ के लिए कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने नशे को बुराइयों की जड़ बताते हुए सभी से सक्रिय सहयोग की अपेक्षा जताई। प्रांत की प्रमुख सामाजिक संस्थाओं की इस बैठक में यहां के जे. आर. टांटिया चेरिटेबल नशा मुक्ति एवं पुनर्वास केंद्र की भी सहभागिता रही, इसके प्रोजक्ट डायरेक्टर डॉ. विकास सचदेवा ने नशा मुक्ति संबंधी मुहिम को प्रभावी बनाने के लिए चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के डिकॉय ऑप्रेशन के थाने की तर्ज पर केंद्रीयकृत नियंत्रण कक्ष बनाने का सुझाव दिया। उन्होंने कहा कि इसकी हेल्प लाइन पर आने वाली सूचना पर स्थानीय पुलिस को बताए बिना सख्त कार्रवाई होनी चाहिए।

विभाग के प्रमुख शासन सचिव समित शर्मा, निदेशक ओ. पी. बुनकर, अतिरिक्त निदेशक सुवालाल पहाडिय़ा, उप निदेशक बी. पी. चन्देल आदि ने बैठक में भाग लिया। इसमें यह सुझाव भी आया कि बिना लाइसेंस चलने वाले नशा मुक्ति केंद्रों को बंद किया जाए या फिर लाइसेंस प्राप्त करना जरूरी कर नियमित किया जाए। रात 8 बजे बाद बिकने वाली शराब को रोकने सहित कई अन्य मुद्दों पर भी चर्चा हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.