टांटिया हॉस्पिटल में हुआ अत्यंत दुर्लभ बीमारी का इलाज डॉ. अभिषेक गुप्ता की विशेषज्ञता से युवती को मिला जीवनदान

टांटिया हॉस्पिटल में हुआ अत्यंत दुर्लभ बीमारी का इलाज

डॉ. अभिषेक गुप्ता की विशेषज्ञता से युवती को मिला जीवनदान

श्रीगंगानगर। टांटिया जनरल एंड मल्टीस्पेशिलिटी हॉस्पिटल में एक अत्यंत दुर्लभ बीमारी का इलाज हुआ है। दमा, क्षय, एलर्जी एवं श्वांस रोग विशेषज्ञ डॉ. अभिषेक गुप्ता की विशेषज्ञता से अबोहर की लगभग 23 वर्षीय युवती को जैसे जीवनदान मिला है। उसे पॉलीआर्टराइटिसनोड़ोसा बीमारी थी, यह करोड़ों में एक को होने वाली बीमारी मानी जाती है।

इस युवती को जब टांटिया हॉस्पिटल लाया गया तब मुंह से बहुत अधिक खून आ रहा था, हाथ और पांव में काफी ज्यादा दर्द था, श्वांस लेने में परेशानी हो रही थी। उसे पूर्व में कई जनों को दिखाया गया तो टीबी, कोविड, निमोनिया आदि मानकर दवाइयां दी गई लेकिन समस्या का समाधान नहीं हुआ। डॉ. अभिषेक गुप्ता ने जांच के दौराना पाया कि उसे पॉलीआर्टराइटिसनोड़ोसा नाम की अत्यंत दुर्लभ बीमारी है, इसमे श्वांस फूलना, मुंह से खून आना, जोड़ो मैं दर्द रहने के लक्षण होते हैं। इलाज के बाद युवती बिलकुल ठीक है, इस बीमारी का समय रहते इलाज करने से जान बच सकती है।

टांटिया हॉस्पिटल दमा, क्षय, एलर्जी एवं श्वांस रोग के निदान का बड़ा और विशिष्ट केन्द्र बन कर उभरा है। डॉ. अभिषेक गुप्ता की अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान है। डायरक्ट्रेट ऑफ पलमनरी रीहैबिलेटेशन के फेलो डॉ. गुप्ता आई.एस.आर. की ओर से वर्ष 2018 में तैयार की गई दुनिया के 500 प्रमुख चिकित्सकों की सूची में शामिल होने का गौरव रखते हैं। वे काफी अनुभवी हैं, उनकी दक्षता से एलर्जी, अस्थमा, टीबी, फेफड़ों के कैंसर, धूम्रपान से होने वाले फेफड़े के रोग, निमोनिया, आई.एल.डी. नींद से जुड़ी बीमारियों, खरार्टों के साथ श्वांस की तकलीफ आदि के मरीज लाभान्वित हो रहे हैं।

श्वांस संबंधी नि:शुल्क शिविर 23 को

सुखाडिय़ा मार्ग स्थित टांटिया जनरल एंड मल्टीस्पेशिलिटी हॉस्पिटल में 23 मई को सुबह 10 बजे से दोपहर 2 बजे श्वांस संबंधी नि:शुल्क शिविर रखा गया है। श्वांस, दमा, क्षय एवं एलर्जी रोग विशेषज्ञ डॉ. अभिषेक गुप्ता इसमें परामर्श देंगे साथ ही श्वांस की स्पाइरोमेट्री जांच भी नि:शुल्क की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.