टांटिया यूनिवर्सिटी को पैरा मेडिकल संबंधी 6 डिप्लोमा कोर्स की मान्यता, 150 सीट हुईं आवंटित

टांटिया यूनिवर्सिटी को पैरा मेडिकल संबंधी 6 डिप्लोमा कोर्स की मान्यता, 150 सीट हुईं आवंटित
श्रीगंगानगर। टांटिया यूनिवर्सिटी की पैरा मेडिकल एंड एलाइड हेल्थ साइंसेंस फैकल्टी के अंतर्गत 6 डिप्लोमा कोर्स की मान्यता राजस्थान पैरा मेडिकल कौंसिल ने प्रदान की है। राज्य में ये डिप्लोमा कोर्स तीन-चार यूनिवर्सिटी में ही हो रहे हैं, इनमें भी चार डिप्लोमा कोर्स ऐसे हैं जो बीकानेर संभाग में सिर्फ टांटिया यूनिवर्सिटी में ही होंगे। टांटिया यूनिवर्सिटी के कार्यकारी निदेशक के. एस. सुखदेव ने बताया कि मेडिकल लैबोरेट्री टेक्नोलॉजी, रेडिएशन टेक्नोलॉजी, ऑपरेशन थियेटर टेक्नोलॉजी, डायलिसिस टेक्नोलॉजी, इमरजेंसी एंड ट्रोमा केयर टेक्नोलॉजी एवं कैथ लैब टेक्नोलॉजी में ये डिप्लोमा कोर्स होंगे, प्रत्येक डिप्लोमा कोर्स के लिए 25 सीट यानि कुल 150 सीट आवंटित की गई है।
श्री सुखदेव ने बताया कि कॅरियर के लिहाज से अपार संभावनाओं वाले ये सभी 6 डिप्लोमा कोर्स बहुत महत्वपूर्ण हैं। प्रत्येक बड़े हॉस्पिटल एवं चिकित्सा संस्थान में इन डिप्लोमा कोर्स वाले योग्य जनों की जरूरत रहती है। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य क्षेत्र में पैरा मेडिकल की तरफ रुझान रोजगार के लिए लिहाज से बहुत अधिक रहता है। ऐसे में श्रीगंगानगर में 6 डिप्लोमा कोर्स की मान्यता निश्चित रूप से इलाके के विकास की गति को और बढ़ाएंगी। इन डिप्लोमा कोर्स में प्रवेश के लिए न्यूनतम योग्यता 12 वीं पास (पीसीएम या पीसीबी) तथा राजस्थान पैरा मेडिकल कौंसिल के निर्धारित मापदण्डों पर खरा उतरना है।
प्राइवेट मेडिकल यूनिवर्सिटी के रूप में स्थापित
देश की सबसे विश्वसनीय मेडिकल यूनिवर्सिटी का गत दिनों  खिताब हासिल करने वाली टांटिया यूनिवर्सिटी भरोसे की प्राइवेट मेडिकल यूनिवर्सिटी के रूप में स्थापित हुई है। इसमें मेडिकल कॉलेज के अलावा वेटरनरी कॉलेज, आयुर्वेद कॉलेज, होम्योपैथी कॉलेज, नर्सिंग कॉलेज, फिजियोथैरेपी, फार्मेसी कॉलेज सहित चिकित्सा शिक्षा से जुड़े कुल 18 कोर्स सफलता से संचालित किए जा रहे हैं।
जन सेवा हॉस्पिटल का मिल रहा बहुत बड़ा लाभ
टांटिया यूनिवर्सिटी परिसर में डॉ. एस. एस. टांटिया मेडिकल कॉलेज, हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर (जन सेवा हॉस्पिटल) का मरीजों तथा परिजनों के अलावा विद्यार्थियों को बहुत अधिक लाभ मिल रहा है। सुपर स्पेशलिस्ट डॉक्टर्स, अत्याधुनिक विश्वस्तरीय सुविधाओं वाले इस हॉस्पिटल में रोजाना बड़ी संख्या में मरीज लाभान्वित होते हैं, काफी जने भर्ती भी रहते हैं। ऐसा होने से विद्यार्थियों को व्यावहारिक ज्ञान भी साथ-साथ प्राप्त होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.