शोधार्थी खूब पढ़ें और मनोयोग से जुटें : प्रो. विनोद कुमार सिंह

शोधार्थी खूब पढ़ें और मनोयोग से जुटें : प्रो. विनोद कुमार सिंह
टांटिया यूनिवर्सिटी में दो दिवसीय राष्ट्रीय सेमिनार का उद्घाटन, समापन आज
श्रीगंगानगर। टांटिया यूनिवर्सिटी में अनुसंधान की नवीन विधियों पर दो दिवसीय राष्ट्रीय सेमिनार सोमवार को शुरू हुआ। मुख्य अतिथि महाराजा गंगासिंह यूनिवर्सिटी, बीकानेर के कुलपति प्रो. विनोद कुमार सिंह ने कहा कि शोधार्थियों को खूब पढऩा चाहिए और लक्ष्य प्राप्ति के लिए जुटना चाहिए। टांटिया यूनिवर्सिटी की प्रशंसा करते हुए उन्होंने कहा कि शोधार्थी को सत्य की खोज करनी होती है, उन्हें किसी पूर्वाग्रह से ग्रसित हुए बिना व्यवस्थित ढंग से काम करना चाहिए।
प्रारम्भ में मुख्य अतिथि एवं टांटिया यूनिवर्सिटी के कार्यकारी निदेशक केएस सुखदेव, अध्यक्ष प्रो. (डॉ.) एम. एम. सक्सेना, सेमिनार के संयोजक व डायरेक्टर (एकेडमिक एंड रिसर्च) डॉ. प्रवीण कुमार शर्मा, परीक्षा नियंत्रक डॉ. राजेंद्र गोदारा, आयोजन सचिव डॉ. रितु बाला के दीप प्रज्वलित करने के बाद यूनिवर्सिटी का कुलगीत हुआ।


उद्घाटन सत्र में अलग-अलग स्थानों से आए हुए विषय विशेषज्ञ डॉ. बी. एस. राठौड़, डॉ. मीरा श्रीवास्तव, डॉ. दिव्या जोशी, डॉ. विजय कुमार ग्रोवर का सम्मान भी किया गया। डॉ. साक्षी ने संयोजन किया। बीकानेर यूनिवर्सिटी के परीक्षा नियंत्रक डॉ. राजाराम चोयल सहित काफी जने इस सत्र में उपस्थित थे। डॉ. राजेंद्र गोदारा एवं यूनिवर्सिटी के श्रीगंगानगर शिक्षक प्रशिक्षण महाविद्यालय की प्राचार्या डॉ. रेखा सोनी की पुस्तक ‘रिसर्च मैथडोलॉजीÓ का विमोचन भी हुआ।


सेमिनार में देश भर के उच्च शिक्षा से जुड़े शिक्षक एवं विद्यार्थी भाग ले रहे हैं। इसमें अनुसंधान से जुड़े तमाम पहलूओं पर विषय विशेषज्ञों के व्याख्यान हो रहे हैं। अनुसंधान के लिए समस्या की पहचान और प्रस्ताव, सांख्यिकी आंकड़े, मौखिक प्रस्तुति, अनुसंधान के आचार विचार, प्रभावी प्रस्तुतिकरण, प्रूफ रीडिंग, नियम आदि के बारे में उपयोगी जानकारी दी जा रही है। राष्ट्रीय सेमिनार का समापन मंगलवार को होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.