खुशियां बाई के जीवन में आई खुशियां

खुशियां बाई के जीवन में आई खुशियां
जन सेवा हॉस्पिटल में 81 वर्षीय बुजुर्ग की नि:शुल्क हुई बाइपास सर्जरी
परिवार डॉ. राजीव वशिष्ठ एवं चिरंजीवी बीमा योजना का जता रहा आभार
श्रीगंगानगर। खुशियां बाई के जीवन में खुशियां आई है। पूरा परिवार भी बागोबाग है। हनुमानगढ़ रोड पर टांटिया यूनिवर्सिटी परिसर में स्थित डॉ. एस. एस. टांटिया मेडिकल कॉलेज, हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर (जन सेवा हॉस्पिटल) में पीलीबंगा तहसील के अमरपुरा ढाणी की लगभग 81 वर्षीय बुजुर्ग महिला की वरिष्ठ हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. राजीव वशिष्ठ ने बाइपास सर्जरी सफलता से की है। हॉस्पिटल के मुख्य प्रशासनिक अधिकारी बलजीत सिंह कुलडिय़ा ने बताया कि मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में पात्र होने के कारण इस रोगी का उपचार नि:शुल्क हुआ है। इस बाइपास सर्जरी से यह भी साबित हुआ है कि दादा-दादी या नाना-नानी बनने की उम्र में भी अगर हृदय संबंधी समस्या आती है, तब भी समाधान संभव है।
खुशियां बाई तीन पुत्रों एवं दो पुत्रियों की मां है, परिवार खेतीहर मजदूर है। दिल संबंधी परेशानी के कारण वह खुद और पूरा परिवार काफी दिनों से दिक्कत में था। इस भारी समस्या के कारण जीवन अंधकारमय लग रहा था। यह डर सता रहा था कि ऑपरेशन होगा या नहीं, हुआ तो सफल होगा या नहीं तथा इसके लिए खर्चा कैसे जुट पाएगा। जन सेवा हॉस्पिटल में आने के बाद सारी समस्याओं का समाधान हो गया और अब प्रसन्नता का उजाला छा गया है। खुशियां बाई की तीन नाडिय़ों में ब्लॉकेज था, डॉ. राजीव वशिष्ठ के अनुभव और दक्षता से बाइपास सर्जरी सफलता से हो गई।
Óहमारे लिए भगवान समानÓ
खुशियां बाई के पौत्र गुरदीप सिंह एवं पौत्री किरण अपनी दादी के सफल उपचार से गद्गद् है। दोनों ने भावुक होते हुए कहा कि डॉ. राजीव वशिष्ठ हमारे लिए भगवान समान है, इन्होंने मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के लिए मुख्यमंत्री का भी आभार जताया। जन सेवा हॉस्पिटल की टीम की प्रशंसा करते हुए इन्होंने कहा कि यह विश्वस्तरीय अत्याधुनिक व्यवस्थाओं वाला है तथा सभी समर्पित भाव और मनोयोग से सेवा करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.