गौरा फाउंडेशन और कॉमनवेल्थ इंटरप्रेन्योर क्लब प्रायोजित श्रीमती चंद्रकला चांडक स्कॉलरशिप का हुआ आगाज, EDUKEMY (DELHI) में होगी क्लासेज

गौरा फाउंडेशन और कॉमनवेल्थ इंटरप्रेन्योर क्लब प्रायोजित श्रीमती चंद्रकला चांडक स्कॉलरशिप का हुआ आगाज

28 जुलाई 2021 श्रीगंगानगर।

upsc के लिए गौरा फाउंडेशन और कॉमनवेल्थ इंटरप्रेन्योर क्लब की ओर से राजस्थान समेत 12 राज्यों के विधार्थियों और सैनिकों(सर्विंग व रिटायर्ड) के बच्चों को स्व. श्रीमती चंद्रकला चांडक स्मृति स्कॉलरशिप दी जाएगी। इसकी घोषणा आज शाम प्रसिद्ध समाजसेवी अशोक चांडक के कार्यालय में एक पत्रकार वार्ता के दौरान की गई।

मिली जानकारी के अनुसार अंगदान जागरूकता संस्थान गौरा फाउंडेशन ट्रस्ट, नेतेवाला और कॉमनवेल्थ इंटरप्रेन्योर क्लब संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) यानी आईएएस/आईपीएस की तैयारी करने वाले विद्यार्थियों के लिए स्व. श्रीमती चंद्रकला चांडक स्मृति स्कॉलरशिप शुरू करने जा रहा है, जिसकी घोषणा आज शाम की गई।

गौरा फाउंडेशन के संयोजक पूर्व वायुसैनिक सुनील सिहाग ने बताया कि उनका संस्थान कॉमनवेल्थ एंटरप्रेन्योर क्लब के साथ मिलकर यूपीएससी परीक्षा 2022 की तैयारी के लिए राजस्थान समेत 12 राज्यों (असम, मणिपुर, मिजोरम, मेघालय, अरुणाचल, नागालैंड, त्रिपुरा,सिक्किम) के 200 विधार्थियों, एयर फोर्स, आर्मी और नेवी के सैनिकों (सर्विंग व रिटायर्ड) के बच्चों को दिल्ली के  प्रतिष्ठित संस्थान  EDUKEMY में प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा (GS) के तीन ऑप्शनल विषयों जैसे ज्योग्राफी, पॉलिटिकल साइंस और पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन के लिए कुल फीस के 40 प्रतिशत तक की स्कॉलरशिप प्रदान करेगा ताकि वो आईएएस, आईपीएस अधिकारी बन पाएं। इस स्कॉलरशिप का अनुमानित खर्च लगभग 60 लाख रूपये होगा। इस स्कॉलरशिप में सैनिकों के बच्चों को प्राथमिकता दी जाएगी। पूर्व वायुसैनिक सुनील सिहाग के अनुसार गौरा फाउंडेशन और कॉमनवेल्थ इंटरप्रेन्योर क्लब यानी CEC मिलकर ये स्कॉलरशिप प्रतिभावान व जरूरतमंद बच्चों को प्रदान करेगा।

बताया गया कि कॉमनवेल्थ इंटरप्रेन्योर क्लब (CEC) 54 देशों के करोड़पतियों और प्रभावशाली व्यक्तियों का एक समूह है, जिसमे भारत का प्रतिनिधित्व मशहूर उद्योगपति, समाजसेवी, और फिल्म निर्माता स्वराज कपूर  करते हैं। वो ग्लोबल प्रेसिडेंट सीईसी है।

स्वराज कपूर ने कहा कि CEC और गौरा फाउंडेशन मिलकर इस स्कॉलरशिप कार्यक्रम का सफल संचालन करेंगे, जल्द ही लंदन स्थित CEC के मुख्यालय से इस कार्यक्रम के लिए आधिकारिक घोषणा कर दी जाएगी।
पूर्व वायुसैनिक सुनील सिहाग ने बताया कि इस स्कॉलरशिप कार्यक्रम को निम्न तीन चरणों में बांटा गया है:-
पहले चरण में ये स्कॉलरशिप केवल राजस्थान के सभी जिलों के बच्चों और तीनों सेना के सेवारत व रिटायर्ड सैनिकों के बच्चो को दी जाएंगी, जिसमे प्राथमिकता गंगानगर व हनुमानगढ़ जिले से संबंधित बच्चों को रहेगी। इस चरण की स्कॉलरशिप की घोषणा आज शाम की गई।

दूसरे चरण में , तीन राज्यों पंजाब, हरियाणा और गुजरात में ये कार्यक्रम शुरू किया जायेगा।

तीसरे चरण में , पूर्वोत्तर (सेवन सिस्टर्स) के 8 राज्यों
असम, मणिपुर, मिजोरम, मेघालय, अरुणाचल, नागालैंड, त्रिपुरा,सिक्किम ) के जरूरतमंद बच्चों को ये स्कॉलाशिप दी जाएगी।

सब्बीर अहमद बशीर

सहसंस्थापक

EDUKEMY DELHI

सीईसी के ग्लोबल प्रेसिडेंट स्वराज कपूर ने कहा कि इस स्कॉलरशिप कार्यक्रम की समस्त तैयारियां अंतिम चरणों में हैं। इस कार्यक्रम की आधिकारिक घोषणा गंगानगर, दिल्ली और मुंबई से एक साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से की गई है। इस स्कॉलरशिप को गंगानगर के भामाशाह अशोक चांडक की स्वर्गीय माता श्रीमती चंद्रकला चांडक को समर्पित की गई है । जिसकी घोषणा आज शाम को अशोक चांडक अपने ऑफिस में प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से की।

गौरा फाउंडेशन के अध्यक्ष अरुण गोदारा, उपाध्यक्ष गोपीराम झटवाल और सहसंयोजक राजेंद्र श्योराण  ने EDUKEMY के संस्थापकों चंद्रहास पाणिग्रही( CEO), सब्बीर अहमद बशीर और देब त्रिपाठी के साथ साथ EDUKEMY & गौरा फाउंडेशन में कॉर्डिनेटर की भूमिका निभाने वाले सत्यन सर को इस स्कॉलरशिप की रूपरेखा और अनुमति के लिए धन्यवाद दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.