गौरा फाउंडेशन संचालित निरवाना लाइब्रेरी के पांच विद्यार्थी स्टेनोग्राफर लिखित परीक्षा में उत्तीर्ण

गौरा फाउंडेशन संचालित निरवाना लाइब्रेरी के पांच विद्यार्थी स्टेनोग्राफर लिखित परीक्षा में उत्तीर्ण

17 जुलाई 2021

अंगदान जागरूकता संस्थान गौरा फाउंडेशन संचालित निरवाना लाइब्रेरी के पांच विद्यार्थी का स्टेनोग्राफर लिखित परीक्षा में उत्तीर्ण हुए जिनका परिणाम कल घोषित हुआ था। ज्ञातव्य हो की
गौरा फाउंडेशन ट्रस्ट नेतेवाला के द्वारा संचालित प्रोजेक्ट:50 सार्वजनिक पुस्तकालय अभियान के अंतर्गत “शिक्षाविद गुरुदेव प्रवीण जी भाटिया सार्वजनिक पुस्तकालय नंबर 5 निरवाना” उद्घाटन दिनांक 22 जून 2019 को सूरतगढ़ के पूर्व विधायक चौधरी गंगाजल जी मील, शिक्षाविद प्रवीण जी भाटिया, गौरा फाउंडेशन के संयोजक पूर्व वायुसैनिक सुनील सिहाग व ग्राम के गणमान्य व्यक्तियों के द्वारा किया गया था जिसका उद्देश्य क्षेत्र के जरूरतमंद बच्चों को प्रतियोगी परीक्षाओं से संबंधित पुस्तकें उपलब्ध कराना,उनका मार्गदर्शन करना और उन्हें पढ़ने के लिए एक शांत और व्यवस्थित वातावरण प्रदान करना था।
जिस उद्देश्य के लिए पुस्तकालय खोला गया आज वे उद्देश्य पूर्ण होते नजर आ रहे हैं। दिनांक 16 जुलाई को 2021 को घोषित स्टेनोग्राफर लिखित परीक्षा में निरवाना गांव के पांच विद्यार्थी रौशन अरोड़ा, ज्योति राजपूत, प्रदीप कुमार, जितेंद्र मील, विनोद कुमार उतीर्ण हुए। ज्ञात हो कि आवेदन करने वाले सभी विद्यार्थी उतीर्ण हुए और परिणाम 100 प्रतिशत रहा। गौरा फाउंडेशन के अध्यक्ष अरुण गोदारा व उपाध्यक्ष गोपीराम झटवाल ने बच्चों को बधाई देते हुआ कहा की इसका श्रेय बच्चों की मेहनत और लगन के साथ लाइब्रेरी के संरक्षक बालकृष्ण सहारन (HM) व संचालक रोशन लाल अरोड़ा के मार्गदर्शन और निरवाना की लाइब्रेरीकमिटी के सदस्यों इन
जाता हैं । गौरा फाउन्डेशन परिवार इन बच्चों के उज्ज्वल भविष्य की कामना करता हैं। गौरा फाउन्डेशन में सहसंयोजक राजेंद्र श्योराण ने बताया कि अब तब गौरा फाउंडेशन पांच पब्लिक लायब्रेरी खोल चुका है । इस अभियान में किताबों के साथ हमारे लाइब्रेरी अभियान से जुड़े बच्चो को प्रतिष्ठित कोचिंग संस्थानो की फीस में बड़ी रियायत और कैरियर काउंसलिंग की जाती है। लाइब्रेरी से ग्रामीण क्षेत्रों के बच्चों को सफ़ल बनाने का ध्येय मजबूत हो रहा हैं हमारी पांचों लाइब्रेरी में से नंबर 3 लाइब्रेरी वीर तेजाजी जाट संस्थान सूरतगढ़ में राजनीतिक कारणों से बंद पड़ी है जिसे जल्द ही अन्य स्थान पर स्थानांतरित किया जायेगा। गौरा फाउंडेशन अपनी छठी लाइब्रेरी की लोकेशन का चयन इस माह कर अगस्त में शुरू कर देगा

प्रदीप कुमार

विनोद कुमार

ज्योति राजपूत

जितेंद्र मील

रौशन अरोड़ा

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.