रेलवे के डीआरएम श्रीवास्तव ने जन सेवा हॉस्पिटल को बताया सेवा का पर्याय

रेलवे के डीआरएम श्रीवास्तव ने जन सेवा हॉस्पिटल को बताया सेवा का पर्याय

1 सितम्बर 2021 श्रीगंगानगर।

मण्डल रेल प्रबंधक (डीआरएम) राजीव श्रीवास्तव ने डॉ. एस. एस. टांटिया एमसीएच एंड रिसर्च सेंटर (जन सेवा हॉस्पिटल) एवं टांटिया यूनिवर्सिटी का गुरुवार को अवलोकन किया। उन्होंने जन सेवा हॉस्पिटल में सिर्फ 10 रुपए परामर्श शुल्क, प्रतिदिन 20 रुपए के हिसाब से मरीज भर्ती करने तथा अत्याधुनिक विश्वस्तरीय सुविधाओं की प्रशंसा करते हुए इसे सेवा का पर्याय बताया। उन्होंने यूनिवर्सिटी के वाइस चेयरमैन डॉ. मोहित टांटिया को दूरदर्शी बताते हुए कहा कि सीमांत क्षेत्र में उनका समूह सराहनीय सेवाएं दे रहा है।

यूनिवर्सिटी के कार्यकारी निदेशक के. एस. सुखदेव, निदेशक डॉ. प्रवीण शर्मा, आयुर्वेद कॉलेज के प्राचार्य डॉ. सुभाष उपाध्याय, जन सेवा हॉस्पिटल के मुख्य प्रशासनिक अधिकारी बलजीत सिंह कुलडिय़ा, जनरल मैनेजर डॉ. विकास सचदेवा, टीपीए एंड इंश्यारेंस मैनेजर गुरप्रीत सिंह, आईईसी को-ऑर्डिनेटर राजकुमार जैन ने डीआरएम को गतिविधियों का ब्यौरा दिया तथा भविष्य की योजनाएं बताई। जेडआरयूसीसी सदस्य भीम शर्मा, रीको इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के सचिव सुनील अग्रवाल भी अवलोकन के समय मौजूद थे।


नशा मुक्ति संकल्प पत्र भरा
डीआरएम राजीव श्रीवास्तव को टांटिया यूनिवर्सिटी के अवलोकन के दौरान जे. आर. टांटिया चेरिटेबल नशा मुक्ति एवं पुनर्वास केंद्र के साइकोलॉजिस्ट-काउंसलर डॉ. मनीष अरोड़ा ने केंद्र के बारे में बताया। श्रीवास्तव ने केंद्र के अभियान के तहत भरवाए जा रहे संकल्प पत्र पर हस्ताक्षर किए तथा नशा मुक्ति संबंधी मुहिम की तारीफ की।

Leave a Reply

Your email address will not be published.