जन सेवा हॉस्पिटल में सरकारी कार्मिकों को कैशलेस उपचार की आरजीएचएस योजना शुरू, आरजीएचएस योजना में कार्मिकों को 10 लाख रुपए तक का मिलेगा कैशलेस उपचार

जन सेवा हॉस्पिटल में सरकारी कार्मिकों को कैशलेस उपचार की आरजीएचएस योजना शुरू

आरजीएचएस योजना में कार्मिकों को 10 लाख रुपए तक का मिलेगा कैशलेस उपचार

15 जुलाई 2021 श्रीगंगानगर।

डॉ. एस. एस. टांटिया एमसीएच एंड रिसर्च सेंटर (जन सेवा हॉस्पिटल) में सरकारी कार्मिकों को कैशलेस उपचार की राजस्थान गवर्नमेंट हैल्थ स्कीम (आरजीएचएस) शुरू हो गई है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इसे प्रथम चरण में 1 जुलाई से लागू करने की मंजूरी गत दिनों दी है।
जन सेवा हॉस्पिटल के टीपीए एंड इंश्योरेंस मैनेजर गुरप्रीत सिंह ने बताया कि राज्य सरकार ने एक जनवरी, 2004 के बाद नियुक्त कार्मिकों को 10 लाख रुपए तक के कैशलेस उपचार की यह नई योजना शुरू की है, इसमें आउटडोर चिकित्सा सुविधा भी मिलना प्रारम्भ हो गई है। इसे सेंट्रल गवर्नमेंट हैल्थ स्कीम (सीजीएचएस) की तर्ज पर राज्य में विधायकों, पूर्व विधायकों, राज्य सरकार, निकायों, बोर्ड एवं निगमों के कार्मिकों तथा पेंशनरों के उपचार की बेहतर सुविधा के उद्देश्य से लागू किया गया है।
लाभार्थी को इनडोर, आउटडोर एवं जांचों की कैशलेस चिकित्सा सुविधा दी जाने लगी है। इसमें एक जनवरी, 2004 के पूर्व नियुक्त कार्मिकों एवं पेंशनरों को असीमित मात्रा में आउटडोर की सुविधा है। एक जनवरी, 2004 के बाद नियुक्त कार्मिकों एवं पेंशनरों को विकल्प लेने पर 5 लाख रुपए तक की कैशलेस आईपीडी उपचार सुविधा, क्रिटिकल बीमारियों के लिए 5 लाख रुपए तक की अतिरिक्त चिकित्सा सुविधा तथा 20 हजार रुपए तक की वार्षिक सीमा की आउटडोर चिकित्सा सुविधा का लाभ दिया जा रहा है। जिन कार्मिकों को वर्तमान में 3 लाख रुपए तक के बीमा धन की सीमा में केवल आईपीडी की सुविधा उपलब्ध है, उन्हें आरजीएचएस में यह सुविधा पूर्व की भांति नि:शुल्क प्राप्त करने का विकल्प है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.