महानगरों की तर्ज पर विकल्प बनकर उभरा जनसेवा हॉस्पिटल

महानगरों की तर्ज पर विकल्प बनकर उभरा जनसेवा हॉस्पिटल

उच्च शिक्षा के साथ बेहतर चिकित्सा सेवाए मिल रही टांटिया यूनिवर्सिटी एवं रिसर्च सेंटर में

14 जुलाई 2021 श्रीगंगानगर।

जन सेवा हॉस्पिटल के नाम से लोकप्रिय हनुमानगढ़ रोड पर टांटिया यूनिवर्सिटी परिसर स्थित डॉ. एस. एस. टांटिया एमसीएच एंड रिसर्च सेंटर इलाके के लिए बड़ी सौगात साबित हुआ है। विशिष्ट पहचान वाला यह हॉस्पिटल जयपुर-दिल्ली एवं अन्य महानगरों के बड़े हॉस्पिटलों का विकल्प बन कर उभरा है। मरीजों एवं परिजनों की इसमें अपेक्षाएं पूरी हो रही हैं।
जन सेवा हॉस्पिटल के हृदय रोग-सर्जरी विभाग, जनरल मेडिसिन, जनरल सर्जरी, दंत रोग, चर्म रोग, शिशु रोग, स्त्री एवं प्रसूति रोग, मानसिक रोग, हड्डी एवं जोड़ रोग, कान, नाक एवं गला रोग, नेत्र रोग, छाती एवं  टीबी रोग विभाग आदि के माध्यम से रियायती दरों पर सभी विभागीय एवं सुपर स्पेशलिस्ट चिकित्सा सेवाएं हर समय उपलब्ध है। , मुख्य प्रशासनिक अधिकारी बलजीत सिंह कुलडिय़ा, जनरल मैनेजर डॉ. विकास सचदेवा, अनुभवी  एवं प्रशिक्षित नर्सिंग ऑफिसर्स सहित पूरी टीम समर्पित भाव से जुटी रहती है।

कोविड की दूसरी लहर में भी अव्वल
डॉ. एस. एस. टांटिया एमसीएच एंड रिसर्च सेंटर (जन सेवा हॉस्पिटल)वैश्विक महामारी कोरोना वायरस कोविड-19 की दूसरी लहर में भी सेवा के मामले में अव्वल रहा है। अन्य जगह से रैफर होकर आने वाले कोरोना मरीजों का प्रतिशत लगभग 90 प्रतिशत रहा, हॉस्पिटल से स्वस्थ होकर अपने घर लौटने वाले मरीजों का प्रतिशत भी करीब यही रहा। कोविड ब्लॉक के प्रभारी कोविड, छाती एवं टीबी रोग विशेषज्ञ डॉ. संजय सोलंकी एवं उनकी टीम ने सराहनीय सेवाएं दीं।


सुविधाएं ही सुविधाएं
जन सेवा हॉस्पिटल में मरीज के लिए अंदर ही गुणवत्ता का भोजन उपलब्ध है, नकद के साथ-साथ डिजिटल भुगतान की भी व्यवस्था है। एक्सरे, सीटी स्केन, एमआरआई आदि की जल्दी रिपोर्ट मिलती है, आवश्यकता होने पर कम्बल भी उपलब्ध करवाए जाते हैं, परामर्श, जांच आदि के लिए एक ही पर्ची, आईडी पर सभी सुविधा है। भवन में लिफ्ट की सुविधा, स्वच्छता का विशेष ध्यान दिया जाता है। हॉस्पिटल में ब्लड सेंटर की भी सेवा है, लाने, ले जाने के लिए एम्बुलैन्स हर समय मौजूद रहती है। भवन के अंदर लेबोरेट्री की रियायती दर पर सेवाएं हैं, कैन्टीन सेवा उपलब्ध है, ठहरने की भी व्यवस्था है। भवन के बाहर सुन्दर पार्क, लॉन, शांत वातावरण है तथा वाहनों के लिए पार्किंग की पर्याप्त व्यवस्था है।
डॉ. मोहित टांटिया का प्रयास कि बाहर जाने की नौबत नहीं आए


जन सेवा हॉस्पिटल के निदेशक डॉ. मोहित टांटिया की यथासंभव यही कोशिश है कि मरीजों को शहर से बाहर ले जाने की नौबत नहीं आए। इसके लिए उन्होंने सुपर स्पेशलिस्ट चिकित्सकों, सुपर स्पेशलिस्ट पैथोलोजिस्ट तथा अत्याधुनिक उपकरणों को उपलब्ध करवाया है। डॉ. टांटिया ने सुनिश्चित किया है कि मरीजों तथा उनके परिजनों को रियायती दर पर तमाम सुविधाएं मिलें। उनका मानना है कि सभी के सहयोग से ही उच्च शिक्षा के साथ-साथ चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाओं में श्रीगंगानगर का परचम और फहराया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.