सेवा कार्यों से आत्मीय सुकून मिलता है मुझे : राघव

सेवा कार्यों से आत्मीय सुकून मिलता है मुझे : राघव

तेरापंथ युवक परिषद का रक्तदान शिविर आयोजित
श्रीगंगानगर। युवा कांग्रेसी नेता एवं समाजसेवी राघव चांडक ने कहा कि समाज सेवा के कार्यो से मुझे आत्मीय सुकून मिलता है। इस जीवन ने मुझे कोरोना रूपी एक ऐसे दौर से रूबरू करवाया, जिसमें मानवीय पीड़ा को काफी करीब से देखा और महसूस किया कि इनके प्रति मेरा भी कुछ दायित्व है । तब से ही मुझे समाज सेवा के कार्य की प्रेरणा मिली और मैं उसी प्रेरणा की बदौलत अपने दायित्व का निर्वाह करने लगा।
श्री चांडक आज तेरापंथ युवक परिषद की ओर से आयोजित मेगा रक्तदान शिविर अमृत महोत्सव कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के तौर पर उपस्थित जनसमूह को संबोधित कर रहे थे। श्री चांडक ने कहा कि ईश्वर जब हमें साधन संपन्न बनाता है तो वह हमारी इस संपन्नता में जरूरतमंद परिवारों के सहयोग के लिए उनका अंशदान भी शामिल करता है। मैंने तो बस उसी अंशदान से पीड़ित मानवता की सेवा का कार्य आरंभ किया है और हर वक्त ईश्वर से यही कामना करता हूं कि उसके द्वारा मुझे जो भी दिया जा रहा है, उसका अंशदान जरूरतमंद परिवारों के लिए लगवाते रहना।
तेरापंथ युवक परिषद के रक्तदान शिविर को अनुकरणीय बताते हुए राघव चांडक ने कहा कि प्रत्येक सदस्य द्वारा आज दिया जा रहा रक्त, जीवन संघर्ष कर रहे किसी ना किसी मरीज का जीवन अवश्य सुरक्षित करेगा।
इस रक्तदान शिविर का आयोजन विश्व की सर्वाधिक रक्तदाता संस्था अखिल भारतीय तेरापंथ युवक परिषद की श्रीगंगानगर इकाई द्वारा तपोवन प्रन्यास में किया गया था। जिसमें 300 यूनिट रक्तदान का लक्ष्य निर्धारित किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.