राजस्थान सूचना केन्द्र मुंबई का किया कायाकल्प

राजस्थान सूचना केन्द्र मुंबई का किया कायाकल्प
सूचना केन्द्र से आशय सूचना के उन केन्द्रों से है जिन्हें सूचना को किसी विशेष रूप से संगृहीत करने, उसका प्रसंस्करण करने, तथा उपयोगकर्ताओं की आवश्यकता अनुरूप, उनकी मांग या चयनात्मक रूप से प्रसार के लिए या जानकारी देने के लिए बनाया गया हो।
राजस्थान सूचना केन्द्र मुंबई कार्यालय की स्थापना 1989 में की गई थी । राजस्थान के प्रवासी लोगों को राजस्थान से जोड़े रखने , सूचना का आदान-प्रदान करने , राजस्थान सरकार द्वारा चलायी जा रही योजनाओं की जानकारी देने के उद्देश्य से इसकी स्थापना की गई थी । वर्तमान में देश की राजधानी दिल्ली, देश की आर्थिक राजधानी मुंबई व कोलकाता महानगरों में राजस्थान सूचना केन्द्र स्थापित हैं।


राजस्थान सूचना केन्द्र मुंबई में लाइब्रेरी भी है जहां पुरानी पुस्तकों को सहेजकर रखा गया है । राजस्थान सरकार से मुख्यमंत्री व मंत्रियों की वीआईपी विज़िट के दौरान कवरेज का कार्य भी इस कार्यालय द्वारा किया जाता है ।
1989 से लगातार जनसंपर्क अधिकारी यहां कार्यरत रहे हैं । पिछले दो वर्षों में यह कार्यालय बंद रहा क्योंकि कोरोना काल में यहां अधिकारी का पद रिक्त था। दिसंबर 2021 में जनसंपर्क अधिकारी श्रीमती ऋतु सोढ़ी को राज्य सरकार द्वारा यहां पदस्थापित किया गया। यहां कार्यालय को नए रूप में संवार कर पुनः आरंभ करने की चुनौती को स्वीकार कर श्रीमती सोढ़ी ने कार्य करना शुरू किया। सर्वप्रथम कार्यालय की सफ़ाई कर इसे एक नया रूप देने की कोशिश की गई है । कार्यालय की दीवारों को ठीक कर उन्हें एक-एक कर पेंट किया गया है । दीवारों पर चित्र बनाकर उन्हें आकर्षक बनाया गया है । यह कार्य जनसंपर्क अधिकारी ने स्वंय किया है ताकि ना सिर्फ़ कार्यालय का कायाकल्प हो बल्कि इन्हें ख़राब होने से भी बचाया जा सके। मुंबई में बारिश अधिक होती है ऐसे में सीलन से दीवारें जल्दी ख़राब हो जाती हैं व पुस्तकों में भी दीमक लगने का ख़तरा रहता है।
यहां दीवारों पर सीमेंट लगा कर एक्रेलिक कलर किया गया है जो लम्बे समय तक टिका रहेगा व दीवारों पर सीलन को भी रोकेगा। फ़िलहाल 70 प्रतिशत कार्य पूरा कर लिया गया है । श्रीमती सोढ़ी ने बताया कि उन्हें चित्रकला में विशेष रुचि रही है । यह कार्य वे अपनी ज़िम्मेदारी समझ कर कर रही हैं। इससे पूर्व उन्होंने श्रीगंगानगर कार्यालय में भी कोरोना काल में वॉल पेंटिंग बनाई थीं। उन्होंने श्रीगंगानगर विधायक श्री राजकुमार गौड़ , तत्कालीन ज़िला कलक्टर श्री ज़ाकिर हुसैन व महात्मा गाँधी जीवन दर्शन समिति के सदस्य श्री प्रवीण गौड़ को भी महात्मा गाँधी के चित्र पेंट कर भेंट दिए थे।
राजस्थान सूचना केन्द्र मुंबई कार्यालय में बाहर गेट पर ही बनी पेंटिंग आपका स्वागत करती है । भीतर राजस्थान की छवि अनुसार ही चमकीले रंगों का प्रयोग किया गया है । यही नहीं पुराने कबाड़ में पड़े लकड़ी के टुकड़ों, पुरानी मटकी व टाइल्स को भी पेंट कर नया रूप दिया गया है ।प्लास्टिक व लकड़ी के पुराने व लगभग ख़राब हो चुके टेबलों को भी एमडीएफ बोर्ड की मदद से सजाया गया है ।
उन्होंने बताया कि दीवाली तक इस कार्यालय को पूर्णतः नवीन रूप दिया जाएगा । राजस्थान सूचना केन्द्र मुंबई में आने वाले विज़िटर्स ने इस नई पहल की तारीफ़ की है । आने वाले समय में इस कार्यालय द्वारा प्रचार-प्रसार को भी नई तकनीक इस्तेमाल कर बढ़ाया जाएगा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.